Zee5 Atkan Chatkan Hindi Review

अटकन चटकन हिंदी रिव्यु – सपने औकात नहीं देखते

अटकन चटकन Zee5 की म्यूजिकल ड्रम फ्लिम जो की सपनो को हकीकत करने की कहानी है. ऐसी ही एक फिल्म हमने Zee5 पर पिछले दिनों देखि “परीक्षा” जो बेटे के सपनो को पूरा करने के लिए पिता के संघर्ष की कहानी है|

Download Zee5 Atkan Chatkan HD Movie

अटकन चटकन स्टार कास्ट(Atkan Chatkan Star Cast)

  • lydian nadhaswaram लिडियन नदवासरम

    लिडियन नदवासरम (Lydian Nadhaswaram)

  • yash rane यश राणे

    यश राणे (Yash Rane)

  • Sachin Chaudhary सचिन चौधरी

    सचिन चौधरी (Sachin Chaudhary)

  • Tamanna Dipak तमन्ना दीपक

    तमन्ना दीपक (Tamanna Dipak)

  • Jagdish Rajpurohit जगदीश राजपुरोहित

    जगदीश राजपुरोहित (Jagdish Rajpurohit)

  • Ayesha Jatin आयेशा जतिन

    आयेशा जतिन (Ayesha Jatin)

  • amitriyaan Patil अमित्रियन पाटिल

    अमित्रियन पाटिल (Amitriyaan Patil)

  • देवश्री चक्रवर्ती (debashree chakrobarty)

    देवश्री चक्रवर्ती (Debashree Chakrobarty)

क्या है अटकन चटकन की संगीत भरी कहानी?

अटकन चटकन गुड्डू(lydian nadhaswaram) के सपनो की कहानी है, गुड्डू जो की एक चाय की दुकान पे काम करता है पर उसको संगीत से बहुत लगाओ और तानसेन संगीत महाविद्यालय में पड़ने की चाहा है, इसके चलते वो अपनी नौकरी ऑर्केस्ट्रा पे काम करने की लिए छोड़ देता है लेकिन ऑर्केस्ट्रा वाले उसको अपने पास से भाग देते है| अब गुड्डू नई नौकरी की तलाश में है क्युकी उसके घर पर पिता(Amitriyaan Patil) और एक छोटी बहन(Ayesha Jatin) है जिन के खाने की जिम्मेदारी गुड्डू पर है वैसे तो उसके पिता भी कमाते है पर सब कुछ दारू में उड़ा देते है|

गुड्डू को अब एक नई जॉब कबाड़ी के पास मिल चुकी है और वहा वो अपने संगीत को जीता है और कभी कभी वह से कुछ किताबे अपने दोस्त माधव(Yash Rane) के लिए ले जाता है जो सड़क पर किताबे बेचने का काम करता है. एक दिन कबाड़ी वाले पर चोरी हो जाती है और इंजाम गुड्डू पर लग जता है जिस वजहे से उसकी नोकरी छोट जाती है पर चोरी छुट्टन(Sachin Chaudhary) और मीठी(Tamanna Dipak) करते है बाद में जब गुड्डू को ये पता लगता है तो इन के बिच लड़ाई हो जाती है तब माधव इनके बिच सुलह कारत है और बाद में चोरो मिलके अपना बेंड बनाते है जिस को एक दिन तानसेन संगीत महाविद्यालय के प्रिंसिपल(Jagdish Rajpurohit) देख लेते है और वो चाहते है की ये चारो तानसेन विद्यालय का संगीत महोत्सव में प्रतिनिधित्व करे उन सब को और अच्छा बनने में आरती(Debashree Chakrobarty) चारो की मदद करती है|

इस बिच कहानी में बहुत से मोड़ आते है जैसे गुड्डू की माँ वापस आती है और क्या ये चारो संगीत महोत्सव में हिंसा ले पायंगे या नहीं ये सब जानने की लिए आप फिल्म जरूर देखे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *